Posts Tagged ‘shayari’

shayari

February 13, 2020

शिकायत मौत से नहीं अपनों से थी मुझे
जरा सी आँख बंद क्या हुई वो कब्र खोदने लगे

एक मुर्दे ने क्या खूब कहा है,
ये जो मेरी मौत पर रो रहे है,
अभी उठ जाऊं तो जीने नहीं देंगे.

my favorite shayari

January 23, 2019

ज़िंदगी एक फ़साना ऐ ग़म हे
मेरा तो इससे नाक में दम हे
तेरे कहने पे जी रहा हूँ ऐ खुदा
तुज़पे ये अहसान मेरा क्या कम हे

ज़िंदगी की राहो में
रंजो ग़म के मेले हे
भीर हे क़यामत की
फिर भी हम अकेले हे